Support Price: Groundnut Purchase Will Start In Gujarat

सरकार के मूंगफली का समर्थन मूल्य घोषित करने, लेकिन जिले में खरीद केन्द्र नहीं खोलने से जिले व क्षेत्र के किसानों को औने-पौने दाम में मूंगफली बेचनी पड़ रही है।

Agriculture NEWS

जिले में 3 हजार हैक्टेयर में मूंगफली की खेती होती है। जल्द से जल्द समर्थन मूल्य पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाया जायेगा।

Groundnut Purchase Will Start In Gujarat

केंद्र सरकार द्वारा योजना का लाभ सीधा आवेदक के खातो में पंहुचाया जाएगा।

भारत एक कृषि प्रधान देश है. किसानों को उपज का अच्छा मूल्य देने को लेकर सरकार ने इस वर्ष भी प्रदेश में मूंग, मूंगफली व अन्य फसलों का समर्थन मूल्य घोषित कर इन्हें खरीदने का निर्णय किया। बाजार भाव से समर्थन मूल्य पर अधिक मिले इस हेतु से समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीदी की जाती है.

गुजरात राज्य के अलग अलग जिले व क्षेत्र में बड़े स्तर पर मूंगफली की बुवाई की जाती है। राजकोट- सिवाना क्षेत्र के साथ साथ अमरेली ,जूनागढ़ , गोंडल जामनगर , महुवा , बोटाद , भावनगर , विसनगर, डीसा , मोरबी, हिमतनगर, मोडासा आदि गांवों में हजारो हैक्टेयर से अधिक भाग में मूंगफली की खेती की जाती है।

PM Kisan Samman Nidhi Yojana 2020

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं | भारत की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है | सरकार ने इस बात को अच्छी तरह से समझा और देश के किसानों के लिए कई कल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया है | इस योजना का नाम PM Kisan Samman Nidhi Yojana है. केंद्र सरकार के साथ साथ प्रदेश सरकार भी देश के किसानों के लिए समय-समय पर कई कल्याणकारी योजनाओं का गठन करती रहती हैं | इसी कड़ी में हाल में ही केंद्र की मोदी सरकार ने देश के किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2020 का गठन किया है.

इस योजना से 12 करोड़ किसानों की मदद की जाएगी। इस योजना का लाभ अगर आप भी उठाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए अपना पंजीकरण कराना होगा। PM Kisan Samman Nidhi Yojana में पंजीकरण कराने की पूरी प्रक्रिया और योजना से जुड़ी सभी जानकारियां हम आपको इस लेख के जरिए देंगे, तो हमारे इस लेख पर बने रहिए।

पीएम किसान योजना देश के लघु और सीमांत किसानो को आर्थिक लाभ देने के लिए किया गया था। इस योजान के तहत लाभार्थियों को 6000 रूपए की सालाना मदद की जाएगी। योजना से मिलने वाली रकम तीन किश्तो में दी जाएगी। इस योजना का लाभ केवल छोटे और सीमांत किसानों को होगा। योजना का लाभ 14 करोड़ से ज्यादा किसान उठा सकते हैं।

PM Kisan List 2020

केंद्र सरकार द्वारा योजना का लाभ सीधा आवेदक के खातो में पंहुचाया जाएगा। बीते वर्ष यानी 2020 में इस योजना का बजट 75000 हजार करोड़ रूपए था, जबकि इस साल इस योजना के बजट को घटा कर 60000 हजार करोड़ कर दिया गया है, इसके पीछे का कारण यह है कि कुछ राज्यों ने इस योजना को लागू नहीं किया।

हम आपको बता दें कि सबसे ज्यादा छोटे और सीमांत किसान ही है जिसे इस योजना का सीधा लाभ मिलेगा, अक्सर मौसम की मार पड़ जाने या जरूरी सुविधाओं के चलते इनकी फसल खराब हो जाती है, जिसके चलते इन लोगों को आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसी किसी आर्थिक समस्या में देश का किसान न आए यही इस योजना का उद्देश्य है।

देशके इच्छुक किसान घर बैठे ही योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं और घर बैठे ही लिस्ट में अपना नाम भी देख सकते हैं। लाभार्थीकिसानो को 6000 रूपए सालाना 2000 रूपए की बराबर किश्तो में सीधा बैंक खाते में जमा करवाए जायेंगे। योजनाके जरिए किसानों की आजीविका सुधारने में मदद मिलेगी।
योजना में आवेदन करने वाले लाभार्थियों को अगले 5 साल तक 6000 रूपए सालान दिए जाएंगे।